अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ कैसे बनाये – Make Ownership Transfer Document Hindi

Make Ownership Transfer Document Hindi – अगर आप के पास कोई संपत्ति है और आप उसकी प्रभुता (ownership) किसी और के नाम करने की सोच रहे है, तो आपको अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) बनाने की आवश्यकता होगी। इस दस्तावेज़ मे यह लिखा होता है की आप भूमि के टुकड़े, घर या किसी भी अन्य प्रकार की संपत्ति मे अपने दावे का त्याग कर रहे है और इसे किसी अन्य पक्ष को सौंप रहे है।

Make Ownership Transfer Document Hindi

इसके लिये, आपको एकअधिकार छोड़ने का प्रपत्र (quit claim form) भरके, दोनों पक्षों से हस्ताक्षर करवाके, उस प्रपत्र को नोटरी करके, तहसील के अभिलेख (record) कार्यालय मे जमा करना होगा। “अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) के द्वारा आप अपने महत्वपूर्ण अधिकारों का त्याग करते है, जिसके की गंभीर कानूनी परिणाम हो सकते है। इसलिए हमेशा यह सलाह दी जाती है की ‘’’वकील से प्रपत्र की जांच’’’ करवा के ही अपने अधिकारों का त्याग करे।“

First Way पहला तरीका – दस्तावेज़ बनाने की प्रक्रिया – Process of creating the document

1. यह सुनिश्चित करे की आप जो हस्तांतरण कर रहे है उसके लिये अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) ही सही दस्तावेज़ है। अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) उपयोग ज़्यादातर संपत्ति की प्रभुता परिवार के एक सदस्य से दूसरे के नाम हस्तांतरित करने के लिये होता है। यह ज़्यादातर इस्तेमाल होने वाले वारंटी (warranty) दस्तावेज़ से इस प्रकार अलग है की इसमे संपत्ति के लिहाज से कोई गारंटी नही होती है – दूसरे शब्दो मे कहे तो, इस दस्तावेज़ द्वारा नये मालिक को संपत्ति ‘जैसी है’ वैसे ही हस्तांतरित कर दी जाती है।  यह संपत्ति हस्तांतरित करते हुये दोनों पक्षों की रक्षा के लिये हमेशा ही सबसे अच्छा तरीका नही होता, इसलिए यह ज़रूरी है की इसके बारे मे शोध करके ही इस पद्धति को अपनाये।

  • यदि आप और आपके भाई, बहन या अभिभावक संयुक्त रूप से किसी संपत्ति के मालिक है, और आप अपने हिस्से की संपत्ति किसी और को देना चाहते है तो अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) का इस्तेमाल कर सकते है।
  • अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) के कानून हर राज्य मे अलग अलग होते है, इसलिए यह शोध कर ले की अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) का नियम आपके लिये सही है की नही।
  • एक वकील को रखने का विचार करे जो आपकी दस्तावेज बनाने और पूरे हस्तांतरण मे आपकी मदद करे । इस तरह से आप निश्चिंत रहेंगे की बनाए गए दस्तावेज सही एवं राज्य के नियमो के अनुसार बने है ।
  • संपत्ति के वर्तमान दस्तावेज का पता लगाए । यदि यह आपके अभिलेख (रेकॉर्ड)मे नहीं है,तो आप इसकी एक प्रति तहसील अभलेखक के कार्यालय या रजिस्ट्री दस्तावेज से ले सकते है ।अभिलेखक या रजिस्ट्री इस प्रति के लिये आपसे कुछ शुल्क ले सकते है।

2. संपत्ति की पार्सल संख्या का पता लगाए। यह पार्सल संख्या या लॉट संख्या (lot number) आपके हाल ही के संपत्ति कर की रसीद, तहसील की भौगोलिक सूचना प्रणाली (जी आई एस) वेबसाइट या तहसील निर्धारक के कार्यालय मे फोन कर के पता कर सकते है ।

3. दस्तावेज तैयार करे । आप एक दस्तावेज पत्र का नमूना ऑनलाइन डाऊनलोड कर सकते है या वर्ड प्रोसेसिंग सॉफ्टवेयर का उपयोग कर के अधिकार छोड़ने का दस्तावेज लिख सकते है। इसमे निम्न लिखित सूचनाए होनी चाहिए :

  • दलो का विवरण। दस्तावेज मे संपत्ति के वर्तमान स्वामी को “अनुदाता” (grantor) के नाम और पद से संबोधित करे और जिस पक्ष को संपत्ति मिल रही है उसे “अनुदेयी” (grantee) के नाम और पद से संबोधित करे। अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) मे सामान्यतः यह लिखा जाता है की हर एक पक्ष वयस्क होता है और वो किसी एक तहसील या जिले का निवासी है। उदाहरण के लिये, “जॉन डो (“अनुदाता”), एक वयस्क जो की ग्रांट तहसील मे रहता है।
  • दस्तावेज मे एक कथन जिसमे की अनुदाता संपत्ति मे अपनी हिस्सेदारी का त्याग कर रहा है और उस संपत्ति का प्रभुत्व अनुदेयी को दे रहा है। आमतौर पर इसे निम्न प्रकार से लिखते है “इसके द्वारा अपने अधिकारों को हस्तांतरित और त्याग करता है निम्न के लिये”। उदाहरण के लिये, “जॉन डो (“अनुदाता”), एक वयस्क जो की ग्रांट तहसील मे रहता है, इसके द्वारा अपने अधिकारों को हस्तांतरित और त्याग करता है मेरी ड्रेक (“अनुदेयी”) के लिये, जो एक वयस्क है और मेडीसन तहसील मे रहती है।
  • संपत्ति का विवरण। दस्तावेज मे संपत्ति का सामान्य पता और पूरा कानूनी विवरण होना चाहिये। संपत्ति का पूरा कानूनी विवरण वर्तमान दस्तावेज या तहसील की जी आई एस प्रणाली वेबसाइट मे मिल सकता है। यह सुनिश्चित करे की आप पूरा कानूनी विवरण ही दस्तावेज मे लिख रहे है, ना की स्थानीय निर्धारक के द्वारा दिया गया छोटा विवरण। यदि आप अनिषित है तो तहसील के स्थानीय निर्धारक के कार्यालय से भी एक बार जांच कर ले।
  • महत्व की राशि का विवरण। ज़्यादातर, अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) से संपत्ति के हस्तांतरण के दौरान “अनुदाता” को कोई महत्व य अनुदान नही दिया जाता है। हालांकि, अनुबंध कानून की यह आवश्यकता है की अनुबंध के महत्व की वैधता होनी चाहिए, इसलिए अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) मे सामान्यतः यह लिखा जाता है की 100 रुपये दिये गए है।
  • खाली स्थान अनुदाता के हस्ताक्षर और तारीख के लिये। दस्तावेज मे एक खाली पंक्ति के नीचे अनुदाता का नाम टाइप किया या छपा हुआ और उसके नीचे “तारीख” शब्द, जिसके आगे खाली स्थान हो, जो की अनुदाता द्वारा लिखा जाये आदर्श होगा।
  • एक ब्लॉक नोटरी के हास्ताक्षर के लिये। नोटरी पब्लिक (“नोटरी”) के समक्ष ही शपथ लेते हुये अनुदाता दस्तावेज मे हस्ताक्षर करे। एक नोटरी ब्लॉक के लिये मानक भाषा निम्न है “मेरे समक्ष, अधोहस्ताक्षरी (undersigned) नोटरी पब्लिक, मे और के लिये, तहसील (इस जगह तहसील का नाम), राज्य (इस जगह राज्य का नाम), व्यक्तिगत रूप से मौजूद अनुदाता (इस जगह अनुदाता का नाम), और इस अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ (quit claim deed) मे अपनी स्वेछा से हस्ताक्षर करता / करती हूँ। इस ब्लॉक के एक पंक्ति नीचे, नोटरी करने वाले का नाम लिखा या छपा हुआ या “नोटरी पब्लिक” लिखा हुआ हो, और एक खाली स्थान तारीख, और नोटरी वाले की छाप या मोहर के लिये भी देना चाहिए।

4. निर्धारित करे की अनुदाता के अलावा किसी और के हस्ताक्षर की भी आवश्यकता है या नही। हर राज्य के कानून अलग अलग होते है, और कुछ जगह अधिकार छोड़ने का दस्तावेज़ (quit claim deed) मे एक गवाह या अनुदेयी के हस्ताक्षर की भी ज़रूरत पड़ती है। अपने वकील, या तहसील रिकॉर्डर या रजिस्ट्रार कार्यालय से यह जांच कर के निर्धारित कर ले की अतिरिक्त हस्ताक्षर ब्लॉको की ज़रूरत है या नही।

Second Way दूसरा तरीका – दस्तावेज को पूरा करने की प्रक्रिया Process of completing documents

Make Ownership Transfer Document Hindi

1. अपने दस्तावेज़ का प्रारूप कैसे तय करें। कई तहसील और / अथवा राज्यों मे दस्तावेज़ के प्रारूप के लिये विशिष्ट आवश्यकताएँ है। आमतौर पर, आप दस्तावेज़ के ऊपर 2 इंच की जगह और कम से कम 1 इंच की जगह नीचे तरफ छोड़े। तहसील के रिकॉर्डर कार्यालय की वैबसाइट पे जाके प्रारूप तैयार करने के निर्देश देखें या उन्हे फोन करके पुच ले।

2. निर्धारित करे की किसी अन्य जानकारी की आवश्यकता है क्या। कुछ राज्यों मे अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ (quit claim deed) मे निश्चित कथनों की अनिवार्यता होती है। उदाहरण के लिये, इंडियाना राज्य मे दस्तावेज़ मे निम्न कथन आना अनिवार्य है “आई अफर्म, अंडर द पेनल्टिज़ ऑफ पेरजुरी (perjury), दैट आई हैव टेकेन रीसनेबल केयर टु रेडाक्ट (redact) ईच सोशल सेक्युर्टी नंबर कंटेंड (contained) इन दिस डॉकयुमेंट, अनलेस रिक्वाइर्ड (required) बाइ लॉ” और इस पर दस्तावेज़ बनाने वाले के हस्ताक्षर होने चाहिए।अपने राज्य के कानूनों की जाँच करे ,अपने वकील के साथ,तहसीलदार निर्धारक के साथ या रजिस्ट्रार से पता करे की राज्य के अनुसार कौन से अतिरिक्त कथन या सूचनाओ की आवश्यकता है ।

3. दस्तावेज़ को छपवाये (Print) और उस पर जरूरी हस्ताक्षर करा लेअनुदाता और अनुदेयी दोनों के हस्ताक्षर दस्तावेज़ पर होने चाहिए।

4. दस्तावेज़ का नोटरीकरन करवा ले। अनुदाता के हस्ताक्षर नोटरीकृत होने चाहिये । आप नोटरी पब्लिक आम तौर पर किसी भी बैंक या लॉ कार्यालय मे मिल जाती है नोटरी उनकी सेवाओ के लिये मामूली सी शुल्क लेते है।

5. दस्तावेजो का पंजीयन तहसील रिकॉर्डर के कार्यालय या दस्तावेजो के रजिस्टर मे करवाए।प्रत्येक तहसील या ग्राम के अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ के पंजीयन के लिये अलग अलग नियम और फीस होती है तो आप फोन करके निर्देशों के बारे मे पूछ सकते है ।

6. अपने अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ का मेल मे आने का इंतजार करेकई रिकॉर्डर या पंजीयन कार्यालय आपके अधिकार छोड़ने के दस्तावेजो के पंजीयन का मेल कुछ दिनो मे ही कर देते है ।आपके दस्तावेजो की प्रति जिसमे आधिकारिक संपत्ति का मालिक कौन है दिया हुआ है, इसे सुरक्शित स्थान पर रखे ।

Suggestion – सलाह – Make Ownership Transfer Document Hindi

  • अगर आपकी इच्छा हो तो शुरू करने के लिये आप किसी वसीयत संपदा या कानून डिपो जाकर अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ का नमूना ले सकते है।
  • कुछ राज्यों मे अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ के साथ साथ कुछ और प्रपत्र भी पंजीयन के वक़्त जमा करने होते है। आप रिकॉर्डर (recorder) कार्यालय या रजिस्ट्रार कार्यालय मे पहले से पता कर सकते है की, आपको अतिरिक्त प्रपत्रों की आवश्यकता होगी या नही एवं वे कहा पे मिलेंगे।
  • आप विरासत सम्पदा की निम्न वैबसाइट से मुफ्त मे अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ पा सकते है।

Warning – चेतावनी Make Ownership Transfer Document Hindi

  • अधिकार छोड़ने के अधिकार को उल्टा करना बहुत ही मुश्किल है, ऐसा तभी कर सकते है जब दूसरा पक्ष ऐसा करने को तैयार हो।
  • आप अधिकार छोड़ने के दस्तावेज़ का इस्तेमाल करते हुये अपने ऊपर की बकाया राशि को दूसरे पक्ष पर स्थानांतरित नही कर सकते है। ॠण लेने वाला ही ॠण को भरेगा।

Source : WikiHow.com

Malik Mehrose
Malik Mehrose is a young entrepreneur, author, blogger, and self-taught developer from Jammu and Kashmir. He is the founder and CEO of SHOPYLL, His startup "SHOPYLL" has emerged a new shine to e-commerce business in Jammu and Kashmir, with a vision to boost the e-commerce ecosystem and to uplift industrialization in Jammu and Kashmir.