जानिए क्या है NEFT RTGC IMPS – Janiye Kya hai NEFT RTGC IMPS Hindi Guide

Janiye Kya hai NEFT RTGC IMPS Hindi Guide – बदलते दौर में सुविधाएं भी लगातार बेहतर हो रही हैं। बात किसी को ऑनलाइन पैसे भेजने की हो तो बीते कुछ सालों में इसके तरीकों में भी काफी बदलाव आया है। देखिए फंड ट्रांसफर के हैं कौन-कौन से तरीके और आपकी जरूरत के लिए कौन सा तरीका है बेस्ट।

  • NEFT ( National Electronic Funds Transfer ),
  • RTGS ( Real Time Gross Settlement ) और
  • IMPS ( Immediate Payment Service ),

ये तीनो सेवायें पुरे भारत में धनराशी को एक स्थान से दुसरे स्थान पर भेजने के लिए इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रान्सफर ( Electronic Fund Transfer ) के रूप में इस्तेमाल की जाती है. इलेक्ट्रॉनिक फंड ट्रान्सफर ने भारत में पैसे के स्थानान्तरण को बहुत आसान बना दिया है. इनमे से NEFT और RTGS का इस्तेमाल काफी समय से किया जा रहा है किन्तु IMPS अभी भारत में अपने कदम ज़माने की कोशिश कर रहा है. इन तीनो का काम करने का तरीका अलग अलग है तो आओ जानते है इन तीनो के बीच में क्या अंतर है और इन्हें पैसे ट्रान्सफर करने के लिए किस तरह इस्तेमाल किया जाता है. NEFT vs RTGS vs IMPS :

Janiye Kya hai NEFT RTGC IMPS Hindi Guide

#1. RTGS (Real Time Gross Settlement): आरटीजीएस फंड ट्रांसफर की सबसे तेज प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में फंड प्राप्त करने के तत्काल या फिर 30 मिनट के भीतर बैंक को इसे निर्देशित खाते में ट्रांसफर करना होता है। यानी फंड को आगे प्रक्रिया के लिए नहीं टाला जा सकता है। आरटीजीएस का इस्तेमाल बड़े फंड ट्रांसफर के लिए किया जाता है। यहां न्यूनतम दो लाख रुपये का ट्रांसफर किया जा सकता है।

यदि किसी वजह से आपके द्वारा भेजे गए पैसे संबंधित व्यक्ति तक नहीं पहुंच पाते हैं तो पूरी राशि महज दो घंटे में आपके खाते में वापस पहुंच जाएगी। बैंकों में आरटीजीएस का इस्तेमाल कार्यदिवस के दिन सुबह नौ से शाम साढ़े चार बजे तक किया जा सकता है, जबकि शनिवार को यह सुबह नौ बजे से दोपहर 12 बजे तक होता है। आरटीजीएस से दो से पांच लाख रुपये तक के फंड ट्रांसफर पर 30 रुपये तक फीस लगती है। हालांकि ये फीस घटाने का बैंकों को अधिकार है।

  • RTGS Time :
दिनसमय
सोमवार से शुक्रवारसुबह 9 से शाम 4:30 तक
शनिवारसुबह 9 से दोपहर 1:30 तक

#2. NEFT (National Electronic Funds Transfer): यह भी फंड ट्रांसफर का सरल और अहम तरीका है, लेकिन यह आरटीजीएस की अपेक्षा धीमा है। इसके तहत फंड ट्रांसफर एक निर्धारित समय पर ही होता है। मसलन, कार्यदिवस के दौरान हर एक घंटे पर इसके तहत फंड ट्रांसफर होते हैं। एनईएफटी में न्यूनतम राशि का कोई प्रतिबंध नहीं है। एनईएफटी पर फीस लगती है और 2 लाख रुपये से अधिक के ट्रांसफर पर  25 रुपये तक फीस लगती है। आरटीजीएस/एनईएफटी से पैसे ट्रांसफर करने के लिए आपके पास लाभार्थी के खाते की जानकारी जैसे उसका नाम, बैंक का नाम, खाता संख्‍या और आईएफएससी कोड होना चाहिए।

  • NEFT Time:-
दिनसमयसमझौता ( No. of Settlement )
सोमवार से शुक्रवारसुबह 8 से शाम 7 बजे तक12
शनिवारसुबह 8 से दोपहर 1 बजे तक6

 इससे पैसे भेजने के लिए आपको निम्न चुनावो का इस्तेमाल कर सकते हो.

  • Internet Banking (All Banks)
  • Mobile Banking (All Banks)
  • State Bank Buddy Wallet
  • Mobikwik Wallet
  • PayTM Wallet
  • Payzapp Wallet and many more..

नोट : दोनों NEFT और RTGS ECS ( Electronic Clearing Systems )का ही एक हिस्सा है. जब ECS कर कार्य बढ़ा तो इसे दो हिस्सों में बाँट दिया गया –

  • ECS Credit : इसके माध्यम से किसी को भी आप तनख्वाह या धनराशी भेज सकते हो.
  • ECS Debit : इसके माध्यम से आप किसी बिल की पेमेंट कर सकते हो.

#3. IMPS-MMID (तत्काल भुगतान सेवा): मोबाइल बैंकिंग सेवा का प्रयोग कर रहे ग्राहक ही इस सुविधा का लाभ उठा सकते हैं यानी पैसा भेज या प्राप्त कर सकते हैं। इसके आपको अपने मोबाइल नंबर और एक अतिरिक्त 7 अंकों के एमएमआईडी नंबर की आवश्यकता होगी। इस प्रक्रिया में फंड का ट्रांसफर तत्काल होता है। इस सेवा  का 24×7 आप लाभ उठा सकते हैं। आईएमपीएस में पैसे ट्रांसफर करने के भी पैसे लगते हैं।  स्‍टेट बैंक ऑफ इंडिया इस सुविधा के लिए पांच रुपये प्रति ट्रांजैक्शन चार्ज करती है।

कैसे प्राप्त करें एमएमआईडी नंबर: IMPS-MMID से पैसे प्राप्त करने के लिए आपको भेजने वाले से अपना मोबाइल नंबर और एमएमआईडी नंबर शेयर करना होगा। वैसे तो बैंक अपने सभी मोबाइल बैंकिंग ग्राहकों को 7 अंकों का एमएमआईडी नंबर खाता खोलने के समय ही दे देता है। लेकिन, यदि आप एमएमआईडी नंबर प्राप्त करना चाहते हैं तो बैंक जाकर इसके लिए आश्वयक फॉर्म भरना होगा। इसके बाद बैंक आपको रजिस्टर्ड मोबइल नंबर पर एसएमएस के जरिए एमएमआईडी उपलब्ध करा देगी।

कार्य समय ( Working Days and Time ) :Immediate Payment Service : धन को एक अकाउंट से दुसरे अकाउंट में भजने के लिए इस्तेमाल किया जाने वाला ये तरीका अभी नया है किन्तु इसकी मदद से आप किसी भी वक़्त, कहीं से भी आसानी से और सुरक्षित तरीके से पैसे को भेज सकते हो और इसकी इसी खूबी की वजह से ये बहुत जल्दी ही बहुत ज्यादा प्रचलित हो चूका है. इसका इस्तेमाल आप अपने फ़ोन, लैपटॉप, टेबलेट और ATM में भी आसानी से कर सकते हो. IMPS आपको 24 * 7, रविवार के दिन और बाकी की सरकारी छुट्टियों के दिन भी पैसे ट्रान्सफर करने की सुविधा देता है. इसे हिंदी में तत्काल भुगतान सेवा कहा जाता है. इसके माध्यम से पंजीकृत IMPS ग्राहक, अपने व्यक्तिगत या व्यवसायिक उद्देश्य के लिए पुरे भारत में धनराशी को भेज सकता है.

  • IMPS :

IMPS के कार्य करने के लिए कोई समय निर्धारित नही है क्योकि इसे आप अपने मोबाइल या कंप्यूटर में इस्तेमाल कर सकते हो. तो आप सप्ताह के सातो दिन ( 24 * 7 ) जब चाहो जहाँ चाहो इसका इस्तेमाल कर सकते हो.

#4. लेनदेन की सीमा ( Transaction Limit ) :

  • NEFT : इसमें पैसे भेजने और पाने के लिए न कोई न्यूनतम और ना ही कोई अधिकतम सीमा निर्धारित नही की है. तो आप 1 या एक से अधिक जितनी धनराशी चाहो स्थानांतरित कर सकते हो.
  • IMPS : IMPS में भी धनराशी को भेजने की कोई सीमा निर्धारित नही है किन्तु कुछ बैंक है जिन्होंने अधिकतम सीमा 2 लाख रुपयें सिमित कर रखी है.
  • RTGS : RGTS में पैसे को एक अकाउंट से दुसरे अकाउंट में भेजने के लिए न्यूनतम सीमा 2 लाख रुपयें है किन्तु इसमें भी अधिकतम सीमा फिक्स नही की गई है. Reserve Bank of India चाहती थी कि इसका गलत इस्तेमाल न हो और इसलिए इसको सिर्फ बड़े लेनदेन के लिए ही इस्तेमाल किया जाता है. कुछ बैंक ऐसे है जिन्होंने एक ट्रांसएक्शन के लिए अधिकतम सीमा निर्धारित की हुई है जैसेकि ICICI Bank और HDFC Bank.
TransactionसीमाNEFTRTGSIMPS
न्यूनतमRs. 1Rs. 2 लाखRs.1
अधिकतमRs. 10 लाखRs. 10 लाखRs. 2 लाख
  • लेनदेन भुगतान ( Transaction Charges ) :
TransactionभुगतानNEFTRTGSIMPS
Rs. 1000 तकRs. 2.50 + Service TaxNARs. 2.50 + Service Tax
Rs.1000 से Rs.1लाख तकRs. 5 + Service TaxNARs. 5 + Service Tax
Rs.1 लाख से Rs. 2 लाख तकRs. 15 + Service TaxNARs. 15 + Service Tax
Rs. 2 लाख से Rs. 5 लाख तकRs. 25 + Service TaxRs. 25 + Service TaxNA
Rs. 5 लाख से Rs. 10 लाख तकRs. 50 + Service TaxRs. 50 + Service TaxNA

Requirements : –

#1. NEFT और RTGS :

  • दोनों धनराशि भेजने वाला और प्राप्त करने वाला NEFT नेटवर्क से जुडा होना चाहियें.
  • पैसे भेजने के लिए अपना और सामने वाले का अकाउंट नंबर भी पता होना चाहियें.
  • इसके अलावा राशि प्राप्त करने वाले के बैंक का नाम और उसका IFSCकोड भी पता कर लें.
  • आप धन भेजने की सीमा को भी पहले ही निर्धारित कर लें.

#2. IMPS :

  • इसमें भी दोनों धनराशी भेजने और प्राप्त करने वाले को IMPS पर पंजीकृत होना होता है.
  • MMID और मोबाइल नंबर मिलकर बैंक के अकाउंट को दर्शाते है.इसमें MMID ( Mobile Money Identifier ) के 7 अंको को भी जान लें. जिसमे पहले 4 अंक NPCI ( National Payment Corporation of India ) आवंटन ( Allotted ) करता है और बाकी की 3 मोबाइल नेटवर्क.
  • इसके अलावा आपको अपना और प्राप्तकर्ता का आधार कार्ड भी पंजीकृत करना होता है.
  • MPIN Password ( Mobile PIN ) भी पता होना चाहियें.

NEFT, RTGS और IMPS के लाभ :

  • इनका इस्तेमाल आप अपने घर, ऑफिस या किसी यात्रा के दौरान भी कर सकते हो.
  • इनमे धन के स्थानान्तरण में समय नही लगता, इसीलिए जिस समय आप पैसे भेजते हो लगभग उसी समय व्यक्ति के पास पैसे पहुँच भी जाते है.
  • पैसे के स्थानांतरित होते ही आपके फ़ोन और ईमेल आई डी पर सुचना की जानकारी के लिए मेसेज आ जाता है.
  • क्योकि ये सब पैसे भेजने के इलेक्ट्रॉनिक तरीके है तो आपको खुद किसी को पैसे देने नही जाना पड़ता.
  • ना ही आपको किसी तरह का चेक या डिमांड ड्राफ्ट बनाना पड़ता है.
  • इनका इस्तेमाल गलत कार्यो के लिए हो सकता.

Extra Bonus : 

UPI (यूनीफाइड पेमेंट इंटरफेस): इसका ऐप गूगल प्लेस्टोर पर मिलेगा जहां से इसे अपने स्मार्टफोन में डाउनलोड किया जा सकता है। यूपीआई के जरिए एक दिन में 50 रुपये से लेकर एक लाख रुपये तक ट्रांसफर किए जा सकते हैं। यूपीआई 24 घंटे और सातों दिन काम करेगा। यूपीआई दरअसल एक वर्चुअल आईडी से दूसरे वर्चुअल आईडी तक फंड ट्रांसफर करता है। यूपीआई में आपको अपनी वर्चुअल आईडी अपने बैंक से मिलेगी। अगर आपका फोन नंबर 9456950586 है और खाता एसबीआई में है तो आपका वर्चुअल आईडी [email protected] भी हो सकता है।

आपको अपने घर पैसे भेजने हैं। यूपीआई ऐप में अपने परिवार के किसी भी सदस्य की वर्चुअल आईडी डालिए। भेजी जाने वाली राशि भरिए और पे टू का बटन दबा दीजिए। पैसा आपके खाते से उस सदस्य के खाते में पहुंच जाएगा। जरूरत सिर्फ इस बात की है कि पैसा भेजने वाले और पैसा पाने वाले दोनों के फोन में यूपीआई का ऐप हो। इसके जरिए मार्केट में खरीदारी या ऑनलाइन शॉपिंग भी की जा सकती है वो भी पूरी तरह से कैशलैस और कार्डलैस।

Malik Mehrose
Malik Mehrose is a young entrepreneur, author, blogger, and self-taught developer from Jammu and Kashmir. He is the founder and CEO of SHOPYLL, His startup "SHOPYLL" has emerged a new shine to e-commerce business in Jammu and Kashmir, with a vision to boost the e-commerce ecosystem and to uplift industrialization in Jammu and Kashmir.