अंग्रेजी में बातचीत कैसे सुधारे – How to Improve English Communication Skills

How to Improve English Communication Skills – आज के जमाने में बढ़िया अंग्रेज़ी आना बहुत जरुरी है। अब यह दुनिया की भाषा बनती जा रही है और सभी को समय के साथ चलना ही पड़ेगा। यदि आप इसको सीखने का प्रयास काफी समय से कर रहे हैं और तब भी अभी आपको इस में बातचीत करना सरल नहीं लगता है, तब आखिरकार आप इस परेशानी से कैसे उबरेंगे? इसके लिए आपको थोड़ी सी मेहनत और थोड़े से समर्पण की आवश्यकता होगी, मगर सौभाग्य की बात यह है कि अब इसे करना पहले से कहीं आसान है। क्या आप अभी से इसे शुरू करने के लिए तैयार हैं?

अंग्रेजी में बातचीत कैसे सुधारे – How to Improve English Communication Skills

How to Improve English Communication Skills

First Way – To improve the interaction : पहला तरीका – बातचीत में सुधार करना

#1. मूल अंग्रेज़ी भाषियों को खोज निकालिए: कुछ इलाकों में यह काम बहुत ही कठिन हो सकता है, मगर यह आपके समय का सबसे बढ़िया उपयोग होगा। सचमुच के मूल अंग्रेज़ी भाषियों से बातें करना आपके अंग्रेज़ी कौशल, बोली या कुछ भी और, को सुधारने का सबसे प्रभावशाली तरीका होता है। इसलिए, चाहे आपको उन्हें स्काइप करना पड़े, फोन करना पड़े, या बातें करने के लिए गिड़गिड़ाना पड़े, तब वही करिए। इससे आपकी प्रगति, किसी भी और तरीके से अधिक तेज़ होगी।

  • चाहे वे केवल टूरिस्ट ही क्यों न हों, उन्हें डिनर के लिए आमंत्रित करिए! उन्हें खाना मिल जाता है और आपको अंग्रेज़ी का एक पाठ। क्रेगलिस्ट पर एडवरटाइज़ करिए। एक क्लास करिए और अपने टीचर के दोस्त बन जाइए। एक्स्चेंज में एक नई भाषा देने का औफ़र करिए। वे सब यहीं कहीं छुपे हुये हैं!

#2. अंग्रेजों के संगीत को सुनिए: अंग्रेज़ी संगीत नहीं, अंग्रेजों का संगीत – उसका उतार चढ़ाव, उसके छंद, उसकी गा गा कर बोलने वाली बात। उसके सुर। चाहे आप “तकनीकी” रूप से बिलकुल सही अंग्रेज़ी क्यों न बोलें, परंतु यदि आप उसे रोबोटों की तरह बोलते हैं तब तो आप उसे उस तरह से सही सही नहीं बोल पा रहे हैं, जैसे कि उसे बोला जाना चाहिए।

  • लोगों को देखिये। देखिये कि कैसे उनके मुंह में शब्द बनते हैं। देखिये कि कैसे उनकी भावनाएँ बताई जाती हैं। देखिये कि कहाँ, किन वाक्यों को महत्व दिया जाता है, और कैसे उससे संदर्भ बन जाता है। केवल शब्दों समझने की जगह पर, उनके द्वारा उपयोग में लाये गए, मज़ाक, भावनाओं तथा उनकी फ़ॉर्मलिटी पर ध्यान दीजिये।

#3. थोड़ा धीमे हो जाइए: सबसे बड़ी बात यह है कि यदि आप चाहते हैं कि लोग आप को समझ पाएँ, तब “धीमे हो जाइए”। आप जितनी स्पष्टता से बोलेंगे, उतनी ही इस बात की संभावना बढ़ जाएगी कि आपके श्रोता आपकी बात को समझ पाएंगे। कभी कभी परेशान हो जाने पर मन करता है कि आप जल्दी जल्दी बोलें और इस मुसीबत से छुटकारा पा लें, मगर आप ऐसा कर नहीं सकते हैं! स्पष्ट होना ही कुंजी है – मूल अंग्रेज़ी भाषियों के लिए भी!

  • वे भी आपके साथ धैर्य रखेंगे – चिंता मत करिए! आपको बस अपने साथ ही धैर्य रखना होगा। किसी ऐसे व्यक्ति से बात करना जो बोलता तो धीरे हो मगर जिसकी बातें समझ में आ सकती हों, इससे कहीं कम परेशानी की बात है, जो तब होती जब आपको किसी ऐसे से बातें करनी हों जो कुछ नहीं समझ पाते हैं। अगर आपकी ज़बान लटपटाती हो तब जल्दी जल्दी बोलने से कुछ भी प्रभाव नहीं पड़ता है।

#4. अपनी आवाज़ को रेकॉर्ड करिए: हालांकि हम अपनी आवाज़ तो हर समय सुनते रहते हैं, मगर हमें सच में यह पता नहीं होता है कि लोग हमें कैसे सुन पाते हैं। इसलिए अपने को रेकॉर्ड करिए! अपनी बोलचाल में, क्या आपको अपने स्ट्रॉंग और वीक पॉइंट्स सुनाई पड़ते हैं? और तब आप अपना ध्यान उन चीजों पर केन्द्रित कर सकते हैं, जिन पर आपको काम करने की आवश्यकता हो।

  • एक बढ़िया तरीका यह हो सकता है कि आप एक किताब या उसके कुछ हिस्सों को पढ़ते हुये स्वयं को रेकॉर्ड करिए (या वाचक की नकल करिए), और तब अपनी तुलना अपनी रिकॉर्डिंग से करिए। इस प्रकार से आप इसे बार बार, तब तक कर सकते हैं जब तक कि आप ठीक से नहीं कर लेते हैं!
  • जब लगे कि यह बहुत बड़ा काम है, तब बस अपनी किताबों को ज़ोर से पढ़िये। आप अपने पढ़ने के कौशल “और” बोलने के कौशल पर पॉइंट्स पाएंगे। शब्दों के साथ सहज हो पाना तो आधी लड़ाई जीतने के समान है!

#5. अलग अलग स्टाइल की कक्षाओं में भर्ती हो जाइए: वैसे तो एक ही कक्षा अच्छी है। वास्तव में एक कक्षा बहुत खूब होती है। मगर यदि आप एक से अधिक कक्षाओं में शामिल हो सकते हैं – अलग अलग स्टाइल की – तब वह और भी अच्छी बात होगी। ग्रुप कक्षायेँ सस्ती, मज़ेदार और आपके सभी कौशलों को बढ़ाने वाली हो सकती है, मगर वन टु वन कक्षा को भी साथ में करना और भी मज़ेदार होगा? तब आपको अपनी बातों पर वह ध्यान मिलेगा जिसके लिए आप हमेशा लालायित रहते हैं। और यह सुधार का दोहरा डोज़ होगा।

  • आप विशेष कक्षाएँ भी ले सकते हैं। एक्सेण्ट घटाने वाली कक्षाएँ, बिज़नेस अंग्रेज़ी की कक्षाएँ, टूरिज़्म कक्षाएँ, और कभी कभी तो भोजन बनाने वाली कक्षाएँ भी। अगर आपको कोई ऐसी चीज़ दिखती है, जिसमें आपकी रुचि हो (सच तो यह है कभी कभी ग्रामर में मज़ा नहीं आता है), तब उसे कर डालिए! शायद, जितना आप सोचते होंगे, उससे कहीं अधिक सीख पाएंगे।

#6. घर पर अंग्रेज़ी बोलिए: यह तो सबसे बड़ी और सबसे आसानी से की जाने वाली गलती होती है। आप दिन भर तो घर में ही बिताते हैं, अपने काम पर थोड़ी बहुत अंग्रेज़ी बोलते हैं, आप अपनी अंग्रेज़ी की कक्षाओं में जाते हैं, और तब आप वापस अपने घर जाते हैं और फिर से अपनी नेटिव भाषा पर पहुँच जाते हैं। हालांकि आपमें धीरे धीरे सुधार आ रहा होगा, मगर आप कभी भी उस भयावने भाषाई पठार को पार नहीं कर पाएंगे। घर पर बोलने का भी निश्चय कर लीजिये। डिनर टेबल पर तो बस अंग्रेज़ी ही होनी चाहिए। घर पर अंग्रेज़ी टी वी ही देखिये। संभव हो तो इसको 24/7 करिए।

  • और हाँ, अपने आप से अंग्रेज़ी में बोलिए। अपनी कामों का वर्णन करिए। जब आप बर्तन धो रहे हों, तब कहिए कि आप क्या कर रहे हैं, सोच रहे हैं या विचार कर रहे हैं। यह थोड़ा मूर्खतापूर्ण लगता है (अगर आप पकड़े गए तो!), मगर इससे आपका दिमाग अपनी पहली भाषा के “पहले” अंग्रेज़ी में सोचने पर लगा रहता है, जो कि एक बड़ा काम है। जब आप एक बार यह कर लेते हैं, तब बाकी काम बस उसको बनाए रखने का ही होता है।

#7. संभावनाएँ बनाइये: अपनी परिस्थितियों को देखना और यह सोचना कि आपकी कभी भी प्राकृतिक रूप से अंग्रेज़ी से उतनी मुलाक़ात नहीं हो पाएगी, जितना कि आप चाहते हैं। विदेश जाना महंगा सौदा होता है, आप किसी विदेशी को जानते भी नहीं है, आदि। यह उसको देखने का आलस्य भरा तरीका है! अंग्रेज़ी बोलने वाले लोग तो हर जगह ही होते हैं; कभी कभी बस उन्हें ढूंढना और छिपी हुई जगह से निकाल लाना होता है। “आपको” उनके पास जाना होगा।

  • और हाँ, किसी अंग्रेज़ी हॉटलाइन पर फ़ोन करिए। Nike को फ़ोन लगाइए और उनके नए स्नीकर्स के बारे में पूछिये। किसी फ़ोन कंपनी को फ़ोन करिए और उनसे फ़ोन प्लान्स के बारे में पूछ ताछ करके छोटी मोटी बातें करिए। किसी ब्लॉग की शुरुआत करिए। अपने OS को अंग्रेज़ी में सेट करिए। WoW खेलिए। अंग्रेज़ी के चैट रूम्स में जाइए। पाने के लिए, सदैव ही कुछ न कुछ सुअवसर तो होते ही हैं।

Second Way – Improve your ability to hear : दूसरा तरीका – अपनी सुनने की क्षमता को सुधारिए

How to Improve English Communication Skills

How to Improve English Communication Skills 

#1. जानिए कि यह कठिन क्यों है: अगर आपको लगता है कि आपके सुनने के कौशल में कुछ कमी है, तब अपने को सताइये मत। यह लगती तो है बड़ी आसान सी बात, मगर यह बहुत भारी काम हो सकती है। आपको जिस तरह से अंग्रेज़ी भाषा, स्कूल में पढ़ाई जाती है, वह असल में उससे बिलकुल विपरीत होती है, जैसे कि मूल भाषाई लोग उसे “वास्तव में” बोलते हैं। कोई आश्चर्य नहीं है कि इसीलिए यह इतना बड़ा काम लगता है!

  • इसलिए अगर अगली बार कोई आपसे कहता तो है, “Do you want to pass me that bag?” और आप सुनते हैं, “Djuwanapassmethabag?” तब इसका अर्थ यह नहीं है कि आप पगला गए हैं। उसके और बातों के बीच में पड़े हुये “like,” “uhh,” तथा “umm,” से किसी को भी अटपटा लग सकता है। इसलिए जब आपकी सुनने की बारी आती है तब अपने को यह याद दिला दीजिये कि: यह तो स्लेङ्ग का समय लगता है।

#2. बातें करिए: सच में। चुपचाप सुनना ठीक है, मगर इंटरैक्ट करना उससे भी अच्छा है। अगर आप सुनने में अच्छे होना चाहते हैं तब आपको प्रश्न पूछने होंगे। और इस प्रकार से आपका बातचीत पर नियंत्रण भी हो जाएगा! अगर आप किसी से पूछते हैं कि गर्मियों में उसे क्या करना पसंद है, तब आपको पता ही है कि वह उलझन भरी दूसरी दिशा में जा कर राजनीति पर बातें नहीं करने लगेगा। कम से कम आशा तो यही रहती है!

  • और जितना ही अधिक आप किसी व्यक्ति विशेष को बातें करते हुये सुनेंगे, उतना ही उनको समझ पाना आसान हो जाएगा। अंग्रेज़ी भाषा में इतने सारे एक्सेण्ट्स होते हैं कि हो सकता है कि आप कभी किसी की बातें समझ ही न पाएँ और फिर यह आश्चर्य ही करते रहें कि ऐसा हुआ कैसे। धैर्य रखिए! समय के साथ आपका मस्तिष्क उनके एक्सेण्ट्स का आदी हो जाएगा। अंग्रेज़ी बोलने वाले लोगों को एक दूसरे के साथ “हमेशा ही” एडजस्ट करते रहना पड़ता है।

#3. इस बीच में टी वी, मूवीस, पॉडकास्ट्स और सभी कुछ देखिये: हालांकि, इस तरह से बातें करना और प्रोएक्टिवली सुनना सबसे बढ़िया बात है, परंतु पैसिव सीखना भी अच्छा होता है। इसलिए, थोड़े समय के लिए टी वी चलाइये और बैठ जाइए। कोशिश करिए कि आप कैप्शनों को बंद कर दें! और अगर आप उसको रेकॉर्ड करके एक से अधिक बार देख सकते हैं, तब तो और भी अच्छा है। इस प्रकार से आप अपनी प्रगति पर भी ध्यान दे सकते हैं।

  • बैकग्राउंड में रेडियो से भी मदद मिल सकती है, इससे आपका मस्तिष्क अंग्रेज़ी ज़ोन में रहता है। मगर सबसे बढ़िया तो यह होगा कि आप किसी मूवी को बार बार देखें ताकि आपका मस्तिष्क उसको समझने की चिंता करना छोड़ कर अन्य छोटी छोटी चीजों, जैसे सुर और स्लेङ्ग, पर ध्यान देना शुरू कर दे ।और ऐसे टी वी शो, जहां पर वही वही चरित्र बार बार आयें ताकि आप उनकी बोलचाल के आदी हो जाएँ। दूसरे शब्दों में: दोहराना।

#4. अंग्रेज़ी एक्स्चेंज बना डालिए: यदि आपका कोई ऐसा दोस्त है जो कि अंग्रेज़ी बोलता है और वह भाषा सीखने का प्रयास कर रहा है, जो आप बोलते हैं, तब अंग्रेज़ी एक्स्चेंज की शुरुआत कर डालिए! और आपको कॉफी पीने और आराम करने का समय भी मिल जाएगा!

  • अगर इसकी संभावना नहीं हो तब ऐसे कुछ मित्रों को ढूंढ लीजिये जो सभी अंग्रेज़ी का अभ्यास करना चाहते हों। हालांकि इस भाषा का अभ्यास उन लोगों के साथ करना, जो मूल रूप से इसे नहीं बोलते हैं, आदर्श तो नहीं है, मगर कुछ नहीं करने से तो यह बेहतर है ही। उनके सामने बोलने में आपको कम संकोच होगा और आप एक दूसरे की मज़बूतियों से कुछ न कुछ सीख ही सकेंगे

#5. अंग्रेज़ी संगीत सुनिए: प्रतिदिन केवल एक गाना सीख लेने मात्र से आपका शब्दज्ञान बहुत बढ़ जाएगा। और इसमें मज़ा भी आयेगा और आप को एनर्जी भी मिलेगी। इससे आप अपना संगीत का खज़ाना बढ़ा सकते हैं, नए शब्द सीख सकते हैं और अनजाने में ही अपना ज्ञान बढ़ा सकते हैं। और तब आप जा सकते हैं कराओके बार में!

  • उन्हीं गानों पर टिके रहिए जो धीमे और स्पष्ट हों। शुरुआत करने के लिए बीटल्स और एल्विस दो अच्छी जगहें हैं, वैसे आधुनिक संगीत भी अच्छा ही है – मगर आप बैलाड्स तक ही सीमित रहिए; क्योंकि वे सबसे आसान होते हैं और समझ में भी आ जाते हैं। रैप तो बाद में भी किया जा सकता है।

Third Way – Improve your writing :तीसरा तरीका – अपने लेखन को सुधारना

How to Improve English Communication Skills

How to Improve English Communication Skills 

#1. लिखिए: यह इतनी सरल सी बात है। किसी भी काम में अच्छा होने के लिए आपको उसे करना पड़ता है। आपको उसे बार बार करना पड़ता है। इसलिए लिखिए। हर दिन। वह डायरी में की जाने वाली एंट्री हो सकती है, आपकी अगली बेस्ट्सेलर भी हो सकती है; वह क्या है, इससे कोई फ़र्क नहीं पड़ता है। बस कागज़ पर कलम को रखिए और शुरू हो जाइए।

  • सब कुछ एक ही जगह पर रखिए। अपने अंग्रेज़ी के काम के लिए एक समर्पित बाइंडर और नोटबुक रखने से आप औरगनाइज़्ड और मोटिवेटेड रहेंगे। आप जितने अच्छे होते जाएँगे, अपनी प्रगति को देख पाना उतना ही सरल होता जाएगा। आपको पीछे देख कर यह पता चलेगा कि पहले आप कितने “खराब” थे और अब आप कितने शानदार हो गए हैं।

#.2 उसकी जांच कराइए: अगर कभी उसकी जांच नहीं कराएंगे या उसको ठीक नहीं करवाएँगे तब तो यह सब अर्थहीन हो जाएगा। आप तो पूरी भाषा में बेहतर होना चाहते हैं, न कि उतनी ही भाषा में जितनी आपको अभी आती है। आपके पास इसके लिए दो विकल्प हैं:

  • इन्टरनेट। यह तो चामत्कारिक है, वास्तव में।com तथा lang-8 जैसी साइट्स आपके काम की जांच मुफ्त में कर सकती हैं! अभी ही विकिहाऊ से चले मत जाइए, मगर इन साइट्स को अवश्य ही अपने ध्यान में रख लीजिये।
  • कोई दोस्त। ज़ाहिर है। मगर लिखने के बारे में बढ़िया बात यह है कि आपका दोस्त चाहे कहीं भी हो, आप उसे ई मेल कर सकते हैं, वह उन्हें मिल जाएगा, वे उसको सही कर सकते हैं और आपको वापस भेज सकते हैं। तो चाहे वे केवल एक मील दूर हों या सात समुंदर पार, गाड़ी आगे बढ़ सकती है।

#3. अपनी शब्दावली में फ़्रेज़ेस को शामिल करिए: अगर आप एक छः साल के बच्चे की तरह लिखेंगे, चाहे कितना भी सही क्यों न लिखें, वह छः साल के बच्चे के लेखन जैसा ही लगेगा। अच्छी ग्रामर जानने वाले छः साल के बच्चे और 20 साल के अच्छी ग्रामर जानने वाले के बीच में फ़र्क केवल उनकी शब्दावली का ही होता है। इसलिए जब भी कभी आपको कोई ऐसा फ़्रेज़ नज़र आता है जिसे आप अपने लेखन (या बातचीत) में शामिल करना चाहते हैं, उसे लिख डालिए। और तब ध्यान रखिए कि कहीं न कहीं आप उसको इस्तेमाल कर डालें।

  • एक बढ़िया तरीका तो हो सकता है कि आप कोलोकेशन्स (collocations) को सीखना शुरू कर दें। यह बस एक फ़ैन्सी टर्म उन शब्दों के लिए है, जो साथ साथ प्रयोग किए जाते हैं। जैसे कि “Get married” तो ठीक है, मगर “get married to someone” उससे भी अच्छा है – इस तरह से आपको पता चल जाता है कि आपको “get married with” नहीं कहना है। अगर आप कहेंगे कि “you received a cold,” तब तो लोग शायद आपको देख कर हंस ही पड़ेंगे – मगर ऐसा तब नहीं होगा जब आप कहेंगे कि “you caught a cold”। अब आप समझे कि यह काम कैसे करता है?

#4. छोटी छोटी बातों को नज़रअंदाज़ मत कर दीजिएगा!: हालांकि शब्द वगैरह मालूम होना तो अच्छी बात है, परंतु, यदि आप ऐसे टाइप करेंगे,तब तो आपका लेखन उतना अच्छा नहीं ही लगेगा, पता है न आपको? दर्दनाक। सुनिश्चित करिए कि स्पेसेज़ सही हों, पंक्चुएशन ठीक हो, और आप कैपिटल अक्षरों का उपयोग तभी करें जब उपयुक्त हो। इन सब बातों का भी असर पड़ता है।

  • अगर आप 15 साल के लड़की जो कि अपने मित्रों को टेक्स्ट भेज रही हो, नहीं हैं, तब टेक्स्ट भाषा उचित नहीं होती है। “You” होता है “you,” न कि “u.” “For” तो कभी भी “4” नहीं होता है। “2” तो “to” तथा “too” से बिलकुल ही भिन्न होता है। और ऐसे लेखन के लिए आपको कोई इनाम भी नहीं मिलेंगे।

#5. इन्टरनेट का उपयोग करिए: इसमें प्रैक्टिकली वे सभी चीज़ें हैं जो आप कभी भी चाहते रहे होंगे। प्रैक्टिकली। इसमें अंग्रेज़ी खेलों वाली वेबसाइट्स हैं, सरल अँग्रेज़ी में लेख हैं, और हर क्षेत्र में अपने कौशल को बढ़ाने के लिए अभ्यास हैं। आपकी भूख को चमकाने के लिए कुछ यहाँ पर दी जा रही हैं:

  • Anki एक फ्लैशकार्ड (flashcard) सॉफ्टवेयर है। इसी प्रकार की चीज़ें आपको Memrise जैसी दूसरी वेबसाइट्स में भी मिल जाएंगी। आप असल में स्वयं से ही क्विज़ कर सकते हैं।
  • Onelook एक प्रकार की डिक्शनरी है जो आपके लिए शब्द खोज सकती है, उनकी परिभाषा दे सकती है “और” उन्हें ट्रांसलेट भी कर सकती है। आपको बस एक बार देखने की ज़रूरत है। इसमें एक रिवर्स डिक्शनरी भी है जहां पर आप उसके स्थान पर केवल विचार लिख सकते हैं!
  • Visuwords से वर्ड मैप विजुयालाइज़ेशन्स (word map visualizations) बन जाते हैं, जिससे आपके द्वारा खोजे जा रहे शब्द उसके समान, उससे जुड़े हुये शब्दों या उससे कोलोकेट होने वाले शब्दों के साथ संलग्न हो जाते हैं। यह आपके शब्दज्ञान को बढ़ाने का एक बढ़िया तरीका है!
  • Visuwords के समान ही Merriam Webster की एक “विज़ुयल डिक्शनरी” (visual dictionary) है। यदि आप टाइप करेंगे “tire” तब वह आपको एक टायर दिखाएगा जिसमें उसके “tread” से ले कर “bead wire” हर छोटी छोटी चीज़ के संबंध में दिखाया जाएगा।
  • English forums, सवाल पूछने और वक्ताओं से बातें करने के लिए अच्छी जगह है। यह मूल रूप से अँग्रेजी से संबन्धित सवाल पूछने के लिए एक के बाद एक मेसेज बोर्ड हैं।

#6. अपने लेखन को हमेशा ठीक करिए: और इससे हमारा मतलब यह नहीं है कि “उसकी जांच करवाइए”, जैसा कि हमने पहले कहा था। इसका अर्थ है कि उसकी जांच करवाइए और उसे “फिर से लिखिए”। आप चाहते हैं कि आपका बनाया हुआ, सही अँग्रेजी में लिखा हुआ, एक सुंदर पूरा ड्राफ्ट बने। अगर आप सिर्फ उसे लिखते हैं और फिर सिर्फ़ उसकी जांच करवाते हैं, तब तो आप समझ ही नहीं पाएंगे कि आपने गलतियाँ क्या की थीं और उनको ठीक कैसे किया जा सकता है। और इस तरह से तो आपकी नोटबुक पहले से कहीं सुंदर लगेगी।

  • जब एक बार आप किसी लेख को सुधार लें, तब अगले दिन ऐसा कुछ लिखने का प्रयास करिए जिसमें आप अपनी पिछले दिन की गलतियों को ठीक करने के आगे की बातें कह सकें। इस प्रकार से आप स्वयं को यह दिखा सकते हैं कि आपने सुधार किया है और आप यह भी ध्यान दे पाएंगे कि आप सचमुच में अब वही गलतियाँ “नहीं” कर रहे हैं। आप बेहतर हो पाएंगे “और” आपका आत्मविश्वास भी बढ़ेगा। बोनस हो गया यह तो।

Suggestion – सलाह

  • विश्वास के साथ बोलिए, सीखिये और अभ्यास करिए।
  • प्रतिदिन अभ्यास करिए। अगर आप नहीं करेंगे, तब तो आप भूल जाएँगे!
  • बहुत अधिक मत ओढ़ लीजिये। एक बार में एक शब्द लीजिये और हर नए शब्द को सीख कर खुश हो जाइए।
  • ध्यान से सुनिए और किसी भी नए शब्द को बाद में डिक्शनरी में देखने के लिए नोट कर लीजिये। तब तक उसका मतलब समझने के पढ़ते रहिए जब तक कि आप सचमुच में उसका सम्पूर्ण अर्थ नहीं समझ लेते हैं।

Source – WikiHow

Malik Mehrose
Malik Mehrose is a young entrepreneur, author, blogger, and self-taught developer from Jammu and Kashmir. He is the founder and CEO of SHOPYLL, His startup "SHOPYLL" has emerged a new shine to e-commerce business in Jammu and Kashmir, with a vision to boost the e-commerce ecosystem and to uplift industrialization in Jammu and Kashmir.