डेबिट और क्रेडिट कार्ड क्या है? – Debit Card vs Credit Card in Hindi

Debit Card vs Credit Card in Hindi- नवम्बर 2016 के बाद से लोगों के पास cash नहीं होने की समस्या सब ने देखी थी. जरुरी सामान लेना होता था लेकिन उन्हें खरीदने के लिए हाथ में cash पैसे नहीं हुआ करते थे. Cash के समस्या से बचने के लिए सरकार ने digital payment को जोर शोर से बढावा दिया और लोगों ने भी इस नयी तरकीब को अपनाना शुरू किया और हर जगह cashless payment का सिलसिला बढ़ने लगा. इसका फायदा बहुत से लोगों को हुआ क्यूंकि अब pocket में cash लेने की समस्या दूर हुयी और कहीं भी कभी भी digital payment के जरिये हम आसानी से shopping कर सकते हैं.

Debit Card vs Credit Card in Hindi

Debit Card vs Credit Card in Hindi – Digital payment करने के लिए सबसे जरुरी चीज होती है bank में आपका खाता होना. अगर किसी व्यक्ति का bank में खाता नहीं है तो वो digital payment नहीं कर सकता क्यूंकि इस payment में पैसे bank में बने account से आते हैं. जब हम अपना account bank में खुलवाते हैं तो bank हमें एक plastic Card देता है जिसका इस्तेमाल हम किसी भी ATM machine में कर सकते हैं. ये कार्ड 3 तरह के होते है ATM Card, Debit Card और Credit Card.

1.ATM Card : ATM कार्ड एक ऐसा कार्ड है जिसकी मदद से आप सिर्फ ATM मशीन से ही पैसा निकाल सकते है इस कार्ड में आपको किसी भी तरह का लोगो (मास्टर, वीजा, रूपए) नहीं दिखेगा. यह कार्ड आपके बैंक से link होता है इसलिए जितने पैसे आपके account में होंगे आप उतने पैसे इस कार्ड के माध्यम से निकाल सकते है.  इस कार्ड से आप बैंक से उधार नहीं ले सकते है और इस कार्ड को आप ATM मशीनों के आलावा कही भी यूज़ नहीं कर सकते है.

2.Debit Card : जब हम bank में अपना account खुलवाते हैं तो bank से हमें Debit Card मिलता है जो हमारे account से जुडा हुआ रहता है. यह कार्ड दिखने में बिलकुल ATM कार्ड जैसा होता है लेकिन इसके Front side में आपको रूपए वीजा या मास्टर का लोगो देखने को मिलेगा. इस कार्ड को आप ATM में तो यूज़ कर ही सकते है लेकिन इसके आलावा आप इससे ऑनलाइन पेमेंट करके खरीददारी भी कर सकते है. ये कार्ड भी बैंक से link होता है इसलिए जितने आपके account में पैसे है आप उतने ही निकाल सकते है.

Debit Card की मदद से हम ATM machine से पैसे निकालने के साथ साथ ही online transactions और shopping भी कर सकते हैं, अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को पैसे transfer कर सकते हैं. इसके अलावा जब आप बाहर किसी mall में या दुकानों में shopping करने जाते हैं तब भी आप वहां अपना Debit Card का इस्तेमाल payment करने के लिए कर सकते हैं और इसके लिए वहां पर आपको अपने Card को स्वाइप करके PIN नंबर डालना होता है तभी आपका payment successful होता है. हम जब भी कुछ खरीदने के लिए या bank transactions करने के लिए अपने Debit Card का इस्तेमाल करते हैं तब पैसे हमारे account से कट जाते हैं और bank से हमारे दिए गए नंबर पर उसी समय एक sms भी आ जाता है की हमारे account में अब कितने पैसे बचे हैं. Debit Card का इस्तेमाल हम कहीं भी और कभी भी आसानी से कर सकते हैं.

Debit Card कितने प्रकार का होता है? : Bank अपने customers को Debit Card की सुविधा देने के लिए Debit Card service provider कंपनियों के साथ जुड़ता है जो bank को Debit Card प्रदान करते हैं जैसे,

  • Visa Debit Card
  • Master Card Debit Card
  • RuPay Debit Card
  • Maestro Debit Card

3.Credit Card क्या है? : Debit Card की तरह Credit Card किसी bank account से जुड़ा हुआ नहीं रहता है बल्कि ये Card आपको किसी financial institution या bank से मिलता है जो लोगों को loan प्रदान करते हैं यानि की पैसे उधार में देते हैं और इसके बदले में वो कुछ प्रतिशत interest rate भी आपसे भुगतान के वक़्त लेते हैं. यह कार्ड भी दिखने में Debit कार्ड कि तरह होता है और इस कार्ड में भी RUPAY VISA और MASTER के लोगो होते है लेकिन आप इसे ATM मशीनों में कुछ लिमिट तक ही यूज़ कर सकते है क्योंकि यह कार्ड बैंक account से link नहीं होता है. क्रेडिट कार्ड भी स्वैप मशीन में एक्सेप्ट होता है इसलिए इसे आप स्वाइप करके भी पेमेंट कर सकते है. इस कार्ड से आप बैंक से रूपए उधार लेते है और उसे खर्च करके बैंक को बिल के रूप में रूपए देते है अगर आप बैंक को रूपए नहीं लौटाते है तो बैंक आपसे ब्याज के साथ रूपए वसूल करते है इस कार्ड की monthly स्पेंड लिमिट होती है इस लिमिट से ज्यादा आप खर्च नहीं कर सकते .

Credit Card से पैसे इस्तेमाल करने की सीमा होती है यानि की जो bank आपको Credit Card प्रदान करता है उसने पहले से ही पैसे की limit set किया होता है जैसे की 1 महीने के लिए 100000 रुपये की सीमा हो सकती है या कुछ कुछ Credit Cards में पैसे की सीमा कम भी होती है जैसे 20000, 50000  इत्यादि. banks ये लिमिट आपके बिज़नेस और इनकम आदि को देख तय करते है जिससे की आप उनके loan को आसानी से चूका सको.

आप लिमिट के अन्दर ही Credit Card से पैसे खर्च कर सकते हैं. महीने की आखिर में (या फिर जब bank आपको तारीख देता है की हर महीने के इस तारीख को आपको वो सारे पैसे चुकाने हैं जितना आप ने Credit Card का इस्तेमाल करके खर्च किया है) अगर आपने वो पैसे वक़्त पर नहीं चुकाए तो आपको खर्च किये हुए पैसो के साथ साथ पेनल्टी भी भरनी होती है.

Credit Card कितने प्रकार का होता है? : लगभग सभी bank आज कल अपने customers को Credit Card प्रोवाइड करते हैं. जो bank Credit Card की सुविधा प्रदान करना चाहता है वो bank Credit Card service provider कंपनियों के साथ जुड़ जाता है जैसे,

  • Visa Credit Card
  • American Express Credit Card
  • British Airway Classic Credit Card
  • Carbon Credit Card

Debit Card और Credit Card में क्या अंतर है? : पहला अंतर तो ये है की Debit Card आपके bank account से जुडा हुआ रहता है और Credit Card किसी भी account से जुडा हुआ नहीं रहता. Debit Card से आप जितने चाहे उतने पैसे खर्च कर सकते हैं जब तक आपका bank balance zero ना हो जाये और Credit Card से आप बस उतने पैसे खर्च कर सकते हैं जितना आपको bank के द्वारा limit दिया जाता है.

आप ने एक चीज जरुर नोटिस  की होगी की सबके पास Debit Card मौजूद रहता है लेकिन Credit Card हर किसी के पास नहीं होता. ऐसा इसलिए है की Debit Card तो सबको bank में खाता खोलने से मिल जाता है लेकिन Credit Card के लिए अलग से bank में apply करना होता है. Bank आपका monthly salary या business देख कर और बाकि सभी details को check करने के बाद ही Credit Card देने के लिए approved करता है.

Credit Card का इस्तेमाल payment करने के बाद आपको एक महीने के बाद उस पैसे को भरने के लिए monthly bill आता है जिसमे आपके द्वारा किये गए सभी transactions की details मौजूद रहती है और आपको bank को कितने पैसे चुकाने हैं उसमे 3 आप्शन दिए हुए होते है या तो आप फुल payment कर सकते है या 10% pay कर सकते है या अपने हिसाब से कोई भी अमाउंट pay कर सकते है. लेकिन Debit Card में ऐसा कुछ भी नहीं होता. जब भी आप Debit Card के जरिये payment कर रहे होते हैं पैसे आपके account से तभी कट जाते हैं. मुझे उम्मीद है की आपको समझ में आ गया होगा की एटीएम कार्ड, Debit और Credit Card क्या है और इन तीनों में क्या अंतर हैं.

Read Also :-

Malik Mehrose
Malik Mehrose is a young entrepreneur, author, blogger, and self-taught developer from Jammu and Kashmir. He is the founder and CEO of SHOPYLL, His startup "SHOPYLL" has emerged a new shine to e-commerce business in Jammu and Kashmir, with a vision to boost the e-commerce ecosystem and to uplift industrialization in Jammu and Kashmir.