Dark Web क्या होता है? – Dark Web and Surface Web Hindi

Dark Web और Surface Web क्या होता है – हम इन्टरनेट पर अनगिनत वेबसाइट को ओपन करते है . या गूगल में सर्च करके हमारे काम की वेबसाइट को देखते है और अपना काम करते है. लेकिन शायद आपको नहीं पता होगा की जो वेबसाइट हम इस्तेमाल करते है या गूगल सर्च से हमारे सामने आती है वो पुरे इन्टरनेट की सिर्फ 5% बाकि की 95% वेबसाइट ऐसी है जिन्हें हम नार्मल ब्राउज़र से ओपन नहीं कर सकते या इन्टरनेट पर सर्च करके भी नहीं देख सकते है .इसी लिए इन्टरनेट को 3 हिस्सों में बाटा है . 1.Surface Web 2.Deep Web 3.Dark Web.

Dark Web and Surface Web Hindi

1.Surface Web वो है जिसे हम सर्च इंजन की मदद से सर्च करके पास सकते है और ये पुरे इन्टरनेट का 5% है .और पूरी दुनिया में सबसे ज्यादा Surface Web ही इस्तेमाल होता है। इसको इस्तेमाल करने के लिए हमें कोई स्पेशल परमिशन की जरुरत नहीं होती है आप इंटरनेट से जो कुछ नहीं पढते हैं, देख रहे हैं, लिख रहे हैं यह सब Surface Web है। Surface Web में हम किसी भी वेबसाइट को एक लिमिट में रहकर देख सकते हैं। जितना हमें उस वेबसाइट का मालिक दिखाना चाहता है। वेबसाइट के एडमिन एरिया को ओपन नही कर सकते हैं और ना ही कोई प्राइवेट जानकारी देख सकते हैं जब तक कि एडमिन नहीं चाहे।

जैसे हम कुछ चीजे इंटरनेट पर सर्च करते हैं लेकिन गूगल उस शब्द को दिखाने नही पाता है और वहां पर Blank पेज आ जाता है। अगर कुछ ऐसा होता है तो इसका मतलब यह है कि उससे संबंधित इंटरनेट पर कोई जानकारी नहीं है। या हो सकता है वह कंटेंट गूगल ने जानबूझकर छुपाया हो। क्योंकि गूगल कानून के दायरे में रहकर काम करता है जिससे किसी देश या किसी समुदाय को हानि ना पहुंचा। Google से रिक्वेस्ट करके किसी भी चीज को हटाया जा सकता है। कई बार गूगल में ऐसा भी किया है कि कोई आपत्तिजनक चीजों को Google से हटा दिया गया है ताकि Surface Web काफी अच्छा रहे।

#2.Deep Web ऐसा इन्टरनेट है जिसे हम सर्च करके नहीं पा सकते। क्योंकि ये No Index वेबसाइट होती है लेकिन इसका इस्तेमाल हम कर सकते है। जितनी भी Cloud Storage की वेबसाइट होती है वो Deep Web में आती है। जिसे हम सिर्फ तभी एक्सेस कर सकते है जब हमारे पास उसके लिए Fix URL है और उसे लिए उसका पासवर्ड हो। इस तरह की वेबसाइट पर गोपनीय जानकारी सेव की जाती है, या सरकारी डाटा एक जगह से दूसरी जगह पर भेजा जाता है या फिर इस पर डाटाबेस बनाकर रखा जाता है या ईमेल लिस्टिंग की जाती है और गवर्नमेंट पब्लिकेशन भी इसी प्रकार की साइट पर होती है। इन वैबसाइट को वही लोग एक्सेस कर सकते हैं जिनके पास इसकी परमिशन है जब तक आप के पास वेबसाइट सही URL और Password नही होता हैं तब तक आप इसे नहीं देख पाएंगे।

#3.Dark Web इन्टरनेट का वो हिस्सा है जंहा सारे गैर कानूनी काम होते है। Dark Web को इस्तेमाल करने के लिए आपको स्पेशल इंटरनेट ब्राउज़र की जरूरत पड़ती है जिसे TOR ब्राउज़र कहते है। इसको आप सिर्फ Educational Purpose तक ही सीमित रखे। इसके इस्तेमाल से आप अपने IP एड्रेस को छुपा सकते हैं जिससे कि इंटरनेट पर आपकी पहचान गुप्त रहेगी। डार्क वेब में Access करने के लिए आपको अपनी पहचान छुपाने जरूरी होती है क्योंकि यह काम Illegal है और हम आपको इसको करने की सलाह नहीं देते हैं यह सिर्फ जानकारी के लिए है। Dark Web की कोई अथॉरिटी नहीं है। यहां सब अपने मालिक होते हैं। इसीलिए काली दुनिया भी कहा जाता है। पुलिस की नजर में चाहे कितना ही बडा Crime क्यूं न हो यहां पर यह सब देखा जाता है। यहां पर आप लाइव मर्डर देख सकते हैं। यहां पर ऑनलाइन Drugs खरीद सकते हैं आप चाहें तो किसी भी आतंकी संगठन को डोनेशन दे सकते हैं। यहां चाइल्ड पोर्नोग्राफी, नकली करेंसी, फ्राड करने के तरीके,  वायरस, हैकिंग के सॉफ्टवेयर इत्यादि काली दुनिया पर हर समान आप को मिल जाता है। जिसके बारे नही जाने आप वैसी चीजे यहाँ पर खरीद सकते हैं। इस दुनिया में आम पैसा या रुपैया नही चलता है यहाँ पर सारी पेमेंट BitCoin के द्वारा की जाती है।

डार्क वेब पर आप किसी की भी ऑनलाइन सुपारी दे सकते हैं। मतलब आप किसी भी इंसान को मारने के लिए वहां पर कांटेक्ट किलर हायर कर सकते हैं। इसके लिए आपको एक वेबसाइट भी मिल जाएगी जिसका नाम हिटमैन है। लेकिन उनकी कुछ कंडीशन है अगर जिसकी सुपारी आप दे रहे हैं वह 16 साल से कम है या फिर वह 10 देशो के किसी देश का नेता न हो।

तो यह थोड़ी छोटी सी जानकारी DEEP WEB और Surface WEB के बारे में। अगर आपको इसके बारे में कुछ और जानना है तो आप नीचे हमारे कमेंट बॉक्स में लिख सकते हैं या फिर हमारे फेसबुक पेज पर जाकर वहां पर मैसेज कर सकते हैं।

Read Also :-

Malik Mehrose
Malik Mehrose is a young entrepreneur, author, blogger, and self-taught developer from Jammu and Kashmir. He is the founder and CEO of SHOPYLL, His startup "SHOPYLL" has emerged a new shine to e-commerce business in Jammu and Kashmir, with a vision to boost the e-commerce ecosystem and to uplift industrialization in Jammu and Kashmir.