क्या है क्रेडिटकार्ड के फायदे और कैसे बनवायें – Credit Card Ke Fayde Kya Hai Aur Kaise Banwaye Hindi

Credit Card Ke Fayde Kya Hai Aur Kaise Banwaye Hindi – आज हम यहाँ क्रेडिट कार्ड, credit card offer from banks, क्रेडिट कार्ड advantage , क्रेडिट कार्ड से disadvantage, how to use क्रेडिट कार्ड, Credit card use करते वक्त किन किन बातो का ध्यान रखे और क्रेडिटकार्ड कैसे बनवायें ये सब जानेंगे .

Credit Card Ke Kya Hai Fayde Aur Kaise Banwaye Hindi

Credit card (क्रेडिट कार्ड ) क्या है ?

Credit Card Ke Fayde Kya Hai Aur Kaise Banwaye Hindi – क्रेडिट कार्ड क्या है या जानने के लिए हम पहले क्रेडिट क्या है  ये जानते है, क्रेडिट समझने के लिए me आपको एक example से बताता हु , जैसे कि आपके घर के पास Provisional स्टोर है , जिसमे से आप 3 साल से रेगुलर cash paid कर के घर का सामान खरीद रहे हो,
अब अगर आपको कभी जरुरत पड़ी के आपके पास पैसे नहीं है और आपको सामान खरीदना है तो आपकी जो 3 साल में Provisional स्टोर वाले के सामने इम्प्रैशन खड़ी हुई है, उसके आधार पे वो आपको 15 या 20 दिन के उधार पे सामान दे देगा, क्योकि उसको पता हे आप रेगुलर pay करते हो और आप पैसे दे देंगे. तो आपकी good क्रेडिट की वजह से आपको यहाँ कुछ days के लिए उधार पे सामान मिला. तो अब आपको यहाँ क्रेडिट समझ आ गया होगा.

तो क्रेडिट कार्ड मतलब की एक ऐसे फैसिलिटी है  , जिसमे आप उस क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल करके कुछ दिनों के उधार पे सामान को खरीदते है, और उस उधार को (जब monthly बिल क्रिएट हो के आपके पास आता हे) आप उसके टोटल अमाउंट को pay करते हो. मतलब की आप आज क्रेडिट कार्ड की मदद से सामान को खरीद रहे हो और बिल एक महीने बाद generate होता हे तो वो पैसे को आप एक महीने बाद pay करते हो, यानि के आपने यहाँ एक महीने के क्रेडिट पे सामान को ख़रीदा था. यानि कि अगर आपके पास cash पैसे नहीं हे और आपको सामान खरीदना हे तो आप उस क्रेडिट कार्ड के मदद से सामान को खरीद सकते हो.

तो अब आप सोचते होगे की बैंक हमें ये फैसिलिटी क्यों दे रही हे, तो बैंक के पास आपको जो अकाउंट होता हे, उसमे आप रेगुलर हो, आपके पास अगर good अमाउंट FD हे , और अगर आपके बैंक अकाउंट में अच्छी cash जमा हे, और आपका कोई भी Old डिफ़ॉल्ट रिपोर्ट नहीं, आपने अगर कोई लोन ली हे तो वो आपने रेगुलर pay कर दी हे. तो इस तरह से बैंक की नजरो में आप एक अच्छे कस्टमर हो, इस बेसिस पे बैंक को लगता हे की अगर वो आपको क्रेडिट कार्ड देगी तो आप डिफ़ॉल्ट नहीं करोगे और बैंक को रेगुलर पैसे pay करोगे.

How to apply for a credit card – क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाये?

Credit Card Ke Fayde Kya Hai Aur Kaise Banwaye Hindi – क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए ये जानना जरुरी हे की क्रेडिट कार्ड कोन issue करता हे, सारे बड़े बड़े banks (जैसे कि ICICI BANK, HDFC BANK, KOTAK BANK, SBI BANK, AXIS BANK) क्रेडिट कार्ड अपने Savings और Current अकाउंट होल्डर्स को issue करते है , क्रेडिट कार्ड बनवाने की एक प्रॉपर प्रक्रिया हे जिसके खत्म होने पर आपको बैंक से approval मिलता हे जिसके बाद में ही आपका क्रेडिट कार्ड issue होता हे.

क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आपको Credit card applications जिस किसी बैंक में सेविंग अकाउंट हे उस में देना हे ( Credit card applications देने से पहले आपको चेक कर लेना हे की वो बैंक क्रेडिट कार्ड देती हे की नहीं) , आप किसी दूसरे बैंक में भी Credit card applications दे सकते हो. Credit card applications देने से पहले Banks के कुछ requirement हे वो आपके लिए जानना बहुत ही जरुरी है .

आपको Credit card application में आपकी पर्सनल डिटेल भरनी होती है

पूरा नाम , एजुकेशनल डिटेल , अपनी माता का और पिता का नाम , जन्म तारीख , करंट एड्रेस , मोबाइल No . ईमेल ID , परमानेंट एड्रेस etc….( full Name, educational detail, mother father name, birth date, current address, mobile no. email id, permanent address etc….)

  • Id proof Like pan card, driving licence, passport, voter id, aadhar card  (इसमें से कोई भी एक)
  • Address proof like, voter id, driving licence, aadhar card, passport (इसमें से कोई भी एक)
  • Sign proof like, pan card, driving licence, passport (इसमें से कोई भी एक)
  • Passport Size Photo.

आपको Credit card application में आपकी एम्प्लॉयमेंट डिटेल भरनी होती है ,

Credit Card Ke Fayde Kya Hai Aur Kaise Banwaye Hindi – आपको अपनी एम्प्लॉयमेंट डिटेल जैसे की आप salaried हो, businessman हो, या फिर retire /pensioner हो, आपका department , designation , employee id , कंपनी नाम, कंपनी एड्रेस, contact number सबकुछ क्रेडिट कार्ड एप्लीकेशन फॉर्म में भरना होता हे.

आपको अपनी बैंकिंग डिटेल , जैसे कि bank name  बैंक अकाउंट नंबर, आपके पास  saving account है, current account है, FD account है, PPF account है. फिर आपके पास अगर पहले से credit card  हे वो डिटेल देनी पड़ती हे, जैसेकि क्रेडिट कार्ड number, किस बैंक से क्रेडिट कार्ड हे, उसकी लिमिट कितनी हे,

तो इस तरह से आपको Credit card application फॉर्म में सारी पर्सनल, एम्प्लॉयमेंट and बैंकिंग डिटेल भरनी पड़ती हे, फिर आपके KYC डॉक्यूमेंट ( id proof, sign proof, address proof) आपको ATTACH करके बैंक में सबमिट करना होता है , फिर बैंक आपकी एप्लीकेशन को VERIFY करती हे, और अगर उन्हें लगता के आपको क्रेडिट कार्ड देना चाहिए तो आपको क्रेडिट कार्ड issue करती हे, साथ साथ में बैंक आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट भी तय करती हे, जैसेकि आपको कितनी अमाउंट तक क्रेडिट मिले.

जैसे कि 20000, 50000, और 100000 etc. मतलब की जिसकी लिमिट 20000 हे , वो 20000 से ज्यादा की अमाउंट use नहीं कर सकता, वैसे ही 50000 वाला 50000 से ज्यादा use नहीं कर पाएगा. ये लिमिट बैंक अपने Norms के हिसाब से तय करती है. तो अब आपको समझ आ गया होगा की क्रेडिट कार्ड बनवाने के लिए आपको बैंक से credit card application फॉर्म लेना होगा, फिर उसको भरके, डॉक्यूमेंट जोड़ के बैंक में सबमिट करना होगा.

किस किस तरह के क्रेडिट कार्ड (credit card) ऑफर होते है?

आज कल हर बैंक अपने कस्टमर को बहुत ही अलग अलग तरह के credit card offer करती हे, जैसे कि :

  • Silver credit card,
  • Gold credit card,
  • Platinum credit card,
  • Credit card for women,
  • Auto fuel credit card,
  • Yatra credit card ,
  • IRCTC credit card,
  • Travel credit card,
  • Balance transfer credit card,
  • Classic credit card,
  • Titanium credit card,
  • Rewards credit card,
  • Cashback credit card,
  • Life style, Prepaid और भी बहुत सारे credit card offer Available है .

India में कौन – कौन से बैंक credit card offer करते है? 

वैसे तो सभी बड़े – बड़े बैंक क्रेडिट कार्ड ऑफर करते है, यहाँ में आपको कुछ नाम बता रहा हूँ.

  • State bank of India,
  • Bank of Baroda,
  • Bank of India,
  • Canara Bank,
  • Punjab National Bank,
  • Indian overseas Bank,
  • Corporation Bank,
  • Union Bank,
  • HDFC Bank, मैंने भी HDFC Bank से ही लिया है। 
  • ICICI Bank,
  • Kotak Bank,
  • Indusind Bank,
  • Axis Bank,
  • HSBC,
  • Syndicate Bank ,
  • Vijaya Bank

क्रेडिट कार्ड के फायदे  – Credit Card Advantages

  • क्रेडिट कार्ड का सबसे पहला advantage ये हे की अगर आपके पास पैसे नहीं हे, और आप कुछ खरीद ना चाहते हो तो वो खरीद सकते हो. मतलब की आपको पैसे बिलिंग साइकिल (एक लिमिट समय) के बाद ही pay करने है.
  • आप क्रेडिट कार्ड की मदद से ऑनलाइन स्टोर से कभी भी खरीद सकते हो, और
  • कोई भी सर्विस जैसे की IRCTC बुकिंग, मोबाइल रिचार्ज, D2H  रिचार्ज, movie ticket Booking, फ्लाइट बुकिंग, LIC प्रीमियम AND कार प्रीमियम PAY कर सकते हो.
  • बहुत सारी CASH अपने पास रखने की जरुरत नहीं पड़ती, क्योकि आप कार्ड की मदद से Purchase कर सकते हो.
  • आप क्रेडिट कार्ड से कुछ Purchase करके फिर उसको loan Installment में Convert कर सकते हो, मतलब की एक तरह से आपको छोटा Loan मिलता हे, कई लोग मोबाइल ऑनलाइन क्रेडिटकार्ड से इन्स्टालमेन्ट पे लेते है .
  • अगर आप हर expenses के लिए क्रेडिट कार्ड use करते हो, तो आपके expenses का रिकॉर्ड बना मिलता हे आपको आपके बिल में, जिससे आप उसको चेक करके अपना Unnecessary expenses  avoid करके expenses मैनेज कर सकते हो.
  • क्रेडिट कार्ड instant कॅश फैसिलिटी use करके आप कभी भी cash पा सकते हो.
  • क्रेडिट कार्ड से परचेस करने पर बहुत सारी कंपनी या अच्छा डिस्काउंट देती है .

क्रेडिट कार्ड से नुकसान – Credit Card Disadvantages

  • क्रेडिट कार्ड use करते वक्त क्या होता हे की हमें पता हे हमें पैसे अभी नहीं देने हे तो हम क्या करते हे की अपनी जरूरियात से भी ज्यादा क्रेडिट कार्ड से परचेस कर लेते हे, और फिर जब actual बिल आता हे हम timely उसे pay नहीं कर पाते है .
  • क्रेडिट कार्ड का बिल अगर आप due date के बाद pay  करते हो तो, आपको बैंक कुछ % चार्जेज लगाती हे, और वो दिन भर दिन बढ़ते जाते हे. ( मतलब की आपको यहाँ बिल generate  होने के बाद रेगुलर पेमेंट करना हे, अगर आप चूक गए तो आपको कुछ % चार्जेज pay करने पड़ेंगे)
  • आज कल ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड के frauds  बहुत ही बढ़ गए हे, जिसमे आज कल टीवी पर और न्यूज़ पेपर में आ रहा हे कुछ लोग फ़ोन करके बातो में फसा के लोगो से क्रेडिट कार्ड का नंबर और पिन नंबर लेके, उनके क्रेडिट कार्ड की सारी लिमिट use  कर लेते है .
  • क्रेडिट कार्ड खो जाने पर उसके misuse के चान्सेस है .

अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड हे तो आपकी किन किन बातो का ध्यान रखना है-

Credit Card Ke Fayde Kya Hai Aur Kaise Banwaye Hindi – आपको में एक बात बताना चाहता हूँ की में क्रेडिट कार्ड 2 साल से use करता करता आ रहा हूँ, और मैंने नीचे की कुछ बातो का ध्यान रखा हे जिसकी वजह से मेने आज तक एक भी बार default नहीं किया.

    • जब आप क्रेडिट कार्ड ले रहे हो तो आपको कम लिमिट का क्रेडिट कार्ड लेना हे, जैसे की कई लोग क्या करते हे की उनकी सैलरी 30000 होती हे, और 50000 लिमिट का क्रेडिट कार्ड ले लेते हे, फिर क्रेडिट कार्ड का ज्यादा use करते हे और पैसे pay नहीं कर पाते हे. ( मतलब की अगर आप यहाँ 15000 की लिमिट का क्रेडिट कार्ड लेते हे तो आप 15000 से ज्यादा use नहीं कर पाएंगे और फिर जब आपकी सैलरी होगी तो आप उसे easily pay कर पाएंगे)
    • नया क्रेडिट कार्ड लेने के बाद तुरंत आपको सिर्फ और सिर्फ RS 100 का ही use करना हे, बाद मे आपको आपके बिल का wait करना हे, मतलब की आपका बिल अगर 15 तारीख को generate हुआ और आपको मैसेज आया तो अब हर महीने ये 15 को ही generate होगा, और बिल pay करने की लास्ट date 30 के आस पास होगी, तो यहाँ हमें हर महीने पेमेंट कब करना ये पता चल जायेगा,
    • अब यहाँ ज्यादा से ज्यादा credit days पाने के लिए आपको हर 15 के बाद ही परचेस करना हे जिससे आपको वो पैसे next month 30 तक pay करने पड़ेंगे. मतलब आपको 40 से 45 दिन के क्रेडिट मिलेगी.
    • आपको cyber cafe में से क्रेडिट कार्ड का use नहीं करना चाहिए ऑनलाइन परचेस के लिए.
    • आपको अगर कोई फ़ोन करके आपके क्रेडिट कार्ड का नंबर और पिन नंबर मांगता हे तो आपको कभी भी किसी को भी नहीं देना हे.
    • अगर आपका क्रेडिट कार्ड खो जाता हे तो आपको तुरंत ही बैंक के कस्टमर केयर नंबर पे फ़ोन करके बता के उसको ब्लॉक करवाना हे.
    • आपको अपने क्रेडिट कार्ड के लिमिट का हर महीने 50 % ही use करना हे, जरुरत पड़ने पे ही क्रेडिट कार्ड का USE करना हे.
    • अगर आपने अपनी Due date पे पेमेंट नहीं किया हे तो आपको तुरंत ही एक या दो दिने में पेमेंट करना हे , नहीं तो वो अमाउंट दिन भर दिन बढ़ती रहेगी.
    • अगर आप क्रेडिट कार्ड close करवा रहे हो तो आपको उसमे एक पैसा भी बाकि नहीं रखना हे, मेने बहुत बार देखा के अगर 50 पैसे भी बाकि रह गए तो वो एक साल बाद २ से ३ हजार का बिल आपके पास आता हे, और आपका Credit Card कभी भी close नहीं होता.
    • आपको अपने क्रेडिट कार्ड में OTP सर्विस ( जब कभी भी ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड use होगा तो आपको एक नंबर आएगा और अगर आप वो नंबर डालोगे तो ही वो क्रेडिट कार्ड use होगा.) को चालू रखना चाहिए. ( ये OTP number आपको किसी को भी नहीं देना हे.)
    • आपको अगर OTP सर्विस USE नहीं करनी हे तो आपको पासवर्ड सर्विस USE करनी चाहिए, जिसमे ऑनलाइन ट्रांसक्शन के लास्ट में आप अगर पासवर्ड डालोगे तो ही आपका ऑनलाइन ट्रांसक्शन खत्म होगा और क्रेडिट कार्ड USE होगा. ( ये पासवर्ड आपको किसी को भी नहीं देना हे.)
    • Low interest credit card के लिए आपको दो, तीन banks में से सबसे low interest वाले बैंक को पसंद करना चाहिए.

क्रेडिट कार्ड को किस तरह use करते है- How to Use Credit Card?

Credit Card Ke Fayde Kya Hai Aur Kaise Banwaye Hindi – अगर आप अपने सिटी के मॉल में जाते हो और क्रेडिट कार्ड से Purchase करते हो तो मॉल के पास क्रेडिट कार्ड का मशीन होता हे, उसे में वो आपका क्रेडिट कार्ड को स्क्रैच करते हे, फिर आपने जो परचेस किया हे उसकी अमाउंट को डाल देते हे और उसमे से दो स्लिप निकलती हे, एक मॉल के पास रहती हे और दूसरी आप के पास रहती हे. ऑनलाइन क्रेडिट कार्ड use करने के लिए आपको थोड़ी क्रेडिट कार्ड की समझ होनी जरुरी हे. आप ऑनलाइन परचेस करते हो तो आपको नीचे की डिटेल ऑनलाइन भरनी पड़ती है .

  1. क्रेडिट कार्ड नंबर
  2. Name On क्रेडिट कार्ड
  3. एक्सपायरी date ऑफ़ क्रेडिट कार्ड
  4. कभी कभी क्रेडिट कार्ड के पीछे तीन डिजिट का एक नंबर होता हे वो भी आपको ऑनलाइन परचेस करते वक्त देना होता है.

तो दोस्तों यहाँ मेने आप लोगो को क्रेडिट कार्ड के बारे मे डिटेल में जानकारी देने का Try किया है, मुझे यकीन है ये जानकारी आपको जरूर पसंद आएगी और आप सारे बैंक के credit card offer को देख के best credit cards service को पसंद करोगे. आप लोगो मुझे नीचे कमेंट करके अगर आपको कोई question है तो बता सकते है .

Guest Post By Eisa Rahi (www.eisarahi.com)

Malik Mehrose
Malik Mehrose is a young entrepreneur, author, blogger, and self-taught developer from Jammu and Kashmir. He is the founder and CEO of SHOPYLL, His startup "SHOPYLL" has emerged a new shine to e-commerce business in Jammu and Kashmir, with a vision to boost the e-commerce ecosystem and to uplift industrialization in Jammu and Kashmir.