बवासीर के कारण और इलाज – Bawaseer ka ilaj Hindi me

Bawaseer ka ilaj Hindi me – बवासीर एक ऐसी समस्या है जिसके कारण व्यक्ति बहुत अधिक परेशान हो जाता है, यह गुदा में होने वाला एक रोग है, जो दो तरह से व्यक्ति को हो जाता है, आंतरिक और बाहरी, इस रोग के होने पर व्यक्ति के गुदा मार्ग से खून निकलता है, और कई बार यह समस्या इतनी बढ़ जाती है, की गुदा मार्ग में मस्से भी हो जाते है, और जब आप मल पास करने के लिए जाते है, तो वह मस्से भी बाहर आ जाते है, गुदा आपकी बड़ी आंत का निचला हिस्सा होता है, जो बाहर की और खुलता है, और आप उसमे से मल को पास करते है, और बवासीर गुदा में होने वाली समस्या है, इस कारण मल पास करते समय व्यक्ति को बहुत अधिक पीड़ा होती है, तो आइये जानते है की बवासीर के क्या कारण होते है, और क्या लक्षण होते हैं।

Bawaseer ka ilaj Hindi me

बवासीर के क्या लक्षण होते हैं:- Bawaseer ke Lakshan

  • गुदा के आस पास किसी गांठ या मस्से का होना बवासीर का संकेत होता है।
  • यदि आपको मल त्याग करते समय अधिक कठिनाई होती है, और साथ की मल त्याग करते समय खून भी आता है तो यह भी बवासीर का लक्षण होता है।
  • आपकी गुदा से बलगम जैसे स्त्राव का निकलना पाइल्स का लक्षण होता है।
  • गुदा मार्ग में अधिक खुजली का होना या रुक रुक कर खुजली होना भी सी का संकेत है।

बवासीर के क्या कारण होते है:- Bawaseer ke karan

कब्ज़ के कारण:– बवासीर होने का सबसे बड़ा कारण होता है व्यक्ति को कब्ज़ की परेशानी होना, कब्ज़ होने के कारण व्यक्ति मल पास करते समय बहुत अधिक जोर लगाना पड़ता है, जिसके कारण गुदा की नसों और उसके आस पास के हिस्सों पर दबाव पड़ने लगता है, जिसके कारण आपको ये परेशानी हो सकती है, इसीलिए आपको इसे अनदेखा नहीं करना चाहिए।

प्रेगनेंसी के कारण:- प्रेगनेंसी के दौरान पाइल्स का होना आम बात होती है, क्योंकि जैसे जैसे शिशु का आकर बढ़ता है, वैसे वैसे आपके पेट में निकले हिस्से में दबाव पड़ता है, जिससे नसों में खिंचाव उत्पन्न होता है, और आपको ये समस्या हो जाती है, इसके अलावा शरीर में हो रहे हार्मोनल बदलाव की वजह से भी आपको इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

उम्र के कारण:- कैसे जैसे आपकी उम्र बढ़ती है, वैसे वैसे गुदा नलिका के अंदर का भगा कमजोर पड़ने लगता है, जिसके कारण आपको बवासीर जैसी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है।

अधिक वजन उठाने के कारण:– यदि आप व्यायाम आदि करते है, रोजमर्रा की जिंदगी में भारी वजन को उठाते है, तो वजन उठाते समय आपको अपनी सांस को रोकना पड़ता है, जिससे गुदा पर शारीरिक रूप से तनाव उत्त्पन्न होता है, और नसों में सूजन होने लगती है, और आपको इस समस्या का सामना करना पड़ता है, साथ ही अधिक खड़े रहने और एक ही जगह बैठे रहने के कारण भी आपकी नसों पर दबाव पड़ता है, जिसके कारण आपको ये समस्या हो सकती है।

अधिक मसालें वाले भोजन के कारण:- यदि आप नियमित ऐसा आहार लेते हैं जिसमे मसाले भरपूर मात्रा में होते हैं, इसके कारण भी आपकी नसों पर बुरा प्रभाव पड़ता है, जिसके कारण उनमे सूजन हो सकती है, और सूजन के कारण आपको इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

अधिक वजन का होना:- यदि आपका वजन अधिक होता है, जिससे आपके पेट का दबाव आपके निचले हिस्से पर पड़ता है, और आपकी नसों में खिंचाव उत्त्पन्न होता है, जिसके कारण आपको पाइल्स की समस्या हो सकती है।

अधिक देर तक मल पास न करने के कारण:- कई लोगो की आदत होती है की वो मल के आने पर उसे पास नहीं करते है, बल्कि रोक कर रखते है, जिसके कारण आपकी गुदा मार्ग की नसों में खिंचाव उत्त्पन होता है, और उसके बाद दर्द भी होने लगता है, और आपको पाइल्स की समस्या से परेशान होना पड़ सकता है।

नशीले पदार्थो का सेवन करना:- अधिक शराब, तम्बाकू, धूम्रपान भी आपके शरीर पर बुरा प्रभाव डालते है, जिसके कारण आपकी नसें कमजोर होने लगती है, और आपके स्वास्थ्य पर इसका बुरा प्रभाव पड़ता है, और आपको इस परेशानी का भी सामना करना पड़ सकता है।

बवासीर से बचने के कुछ घरेलू इलाज:- Bawaseer ka ilaj Hindi me

  • यदि आप नियमित मूली का सेवन करते हैं या मूली का रस पीते हैं तो आपको इससे बचने में मदद मिलती है।
  • दही या छाछ के साथ कच्चे प्याज़ का सेवन करने से भी आपको फायदा मिलता है।
  • गुड़ और हरड़ को एक साथ खाने पर आपको इस समस्या से आराम मिलता है।
  • यदि आप नियमित छाछ में जीरा और अजवाइन मिलाकर उसका सेवन करते हैं तो भी आपको फायदा मिलता है।
  • सहजन और आक के पत्तों का लेप बनाकर मस्सो पर लगाने से आपको राहत मिलती है।
  • अधिक मसालें वाले भोजन का सेवन न करके स्वस्थ संतुलित व् पोष्टिकाहर का सेवन करने से आपको फायदा मिलता है।
  • पपीता, अंगूर, जैसे फलों का सेवन नियमित रूप से करने पर आपको फायदा मिलता है।
  • ऐसे पदार्थो का सेवन बिलकुल नहीं करना चाहिए जिनसे आपको कब्ज़ बनती हो।

तो ये हैं कुछ कारण, लक्षण, और उपाय बवासीर से बचने के लिए, यदि आपको अधिक समस्या हो तो इसे एक बार डॉक्टर को भी जरूर दिखाना चाहिए।

Read Also :-

Malik Mehrose
Malik Mehrose is a young entrepreneur, author, blogger, and self-taught developer from Jammu and Kashmir. He is the founder and CEO of SHOPYLL, His startup "SHOPYLL" has emerged a new shine to e-commerce business in Jammu and Kashmir, with a vision to boost the e-commerce ecosystem and to uplift industrialization in Jammu and Kashmir.